भौंती ग्राम लगभग ४०० वर्ष पुराना गाँव बताया जाता है

भौंती ग्राम लगभग ४०० वर्ष पुराना गाँव बताया जाता है न२ हाइवे इस ग्राम पंचायत के बीच में से हो कर गया है हाइवे से जुड़ा होने के कारण यह ग्राम पंचायत अधिक विकासशील है| यह ग्राम पंचायत पाँच गाँव से मिल कर बनी है ये गाँव हाइवे से १०० से ३०० मीटर की दूरी पर है इन गाँवों में प्राचीन मंदिर भी है इस ग्राम पंचायत में दो बंगाली गाँव आते है जिसे देखने पर बंगाल प्रदेश का अहसास होता है| इस ग्राम पंचायत में सुभिधा की सभी वस्तु मिलती है|

इस ग्राम पंचायत का रहन-सहन लगभग शहर की तरह ही है

इस ग्राम पंचायत का रहन-सहन लगभग शहर की तरह ही है क्योंकि यह एक तरह से शहर का ही हिस्सा है अतः यहाँ ज़रूरत संबंधित सभी वस्तुएँ उपलब्ध हो जाती है| चाहे वह खाने-पीने की हो या पहनने की सब कुच्छ मिलता है|

 

Launch of Facebook Page, Web Portal and Soochna Seva Kendra

35 People attended the formal launch of the Facebook Page, Web Portal and Soochna Seva Infodesk at the Bhauti Pratap Pur Digital Panchayat, Kanpur Nagar. The Chief Guest of the event was Mr. Shambhu Kumar, C.D.O., Kanpur Nagar. Digital Empowerment Foundation‘s Dr. Neena Jha also attended the event. This initiative has been taken as a pilot scheme to enable Digital Services and Information Availability in house for the local communities. This is a project under the Global Outreach Activity of the Digital Empowerment Foundation, New Delhi and the Bill and Melinda Gates Foundation.
Moments from the event.
‪#‎DigitalIndia‬ ‪#‎DigitalPanchayat‬ ‪#‎EPanchayat‬ ‪#‎UttarPradesh

Message by Dr. Neena Jha Message by IAS officer Mr. Shambhoo Kr. CDO Kanpur Message3 Panchayat Bhavan Presentation Public Services index Villagers Welcome Addressing by CDO of Panchayat Webportal launching Addressing the web portals Addressing Asset handover to Bhaunti Panchayat Banner Bhaunti Pratappur Panchayat Kendra Discussion for training plan Explaining soochna seva services among the  people Facebook Page launching Guest In library Soochna Seva Kendra Innauguration Message 2

राष्ट्रीय न्यूज़

news450

नई दिल्ली भ्रष्टाचार तथा कोयला खदान आवंटन में धांधली के विरोध में अन्ना हजारे के सहयोगी अरविंद केजरीवाल ने रविवार सुबह से अपराह्न तीन बजे तक पुलिस को खूब छकाया। इंडिया अगेंस्ट करप्शन (आइएसी) के सैकड़ों समर्थक जिस तरह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से लेकर भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी के निवास पर पहुंच घेराव करने के लिए अलग-अलग समूहों में निकले, उससे अफरा-तफरी का माहौल कायम रहा। दोपहर बाद रेसकोर्स स्थित प्रधानमंत्री निवास के बाहर तथा जनपथ पर समर्थकों को रोकने के लिए पुलिस को वाटर कैनन तथा लाठीचार्ज करना पड़ा, साथ ही आंसू गैस के गोलों का भी इस्तेमाल किया गया। मगर प्रदर्शनकारियों का जोश फिर भी ठंडा नहीं पड़ा। अपराह्न तीन बजे अरविंद केजरीवाल ने जब समर्थकों से कहा कि उनका मकसद पूरा हो गया अब घेराव रोक दें, तब समर्थक रुके और पुलिस ने भी राहत की सांस ली। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई को जारी रखते हुए पूर्व नियोजित कार्यक्रम के तहत अन्ना के सहयोगी अरविंद केजरीवाल, संजय सिंह, गोपाल राय, मनीष सिसौदिया, कुमार विश्वास रविवार सुबह छह बजे ही अलग-अलग टुकडि़यों में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, भाजपा अध्यक्ष नितिन गडकरी के निवास पर घेराव करने पहुंचे। चूंकि 10 बजे इस तरह के प्रदर्शन की सूचना पुलिस को दी गई थी, इस लिहाज से वह पूरी तरह से मुस्तैद भी नहीं थी। ……………More